Top Newsदिल्ली

गर्मी के साथ-साथ दिल्ली में गहरा सकता है जल संकट, जानिए वजह

जिससे दिल्ली तक रावी व्यास नदीं से मिलने वाले 232 एमजीडी (मिलियन गैलेन प्रतिदिन) पानी की आपूर्ति प्रभावित होगी। दिल्ली जलबोर्ड उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो दिल्ली में पानी को लेकर त्राहि-त्राहि मच जाएगा।

दिल्ली। गरमी की दस्तक के साथ ही दिल्ली में रावी-व्यास नदी से होने वाली जलापूर्ति प्रभावित होने से दिल्ली में जल संकट गहरा सकता है। केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय की संस्था भांखड़ा नांगल प्रबंधन बोर्ड मरम्मत कार्य के चलते 25 मार्च से 24 अप्रैल तक व्यास नदी का हाइडल चैनल बंद करने जा रही है।

जिससे दिल्ली तक रावी व्यास नदीं से मिलने वाले 232 एमजीडी (मिलियन गैलेन प्रतिदिन) पानी की आपूर्ति प्रभावित होगी। दिल्ली जलबोर्ड उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो दिल्ली में पानी को लेकर त्राहि-त्राहि मच जाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर इस मरम्मत कार्य को फिलहाल रोकने की अपील करते हुए बैठक बुलाने की मांग की है।

राघव चड्ढा ने कहा कि मरम्मत कार्य के चलते व्यास नदी से दिल्ली को मिलने वाले 232 एमजीडी पानी की आपूर्ति प्रभावित होगी। यह दिल्ली को मिलने वाले कुल पानी का 25 फीसदी हिस्सा है।

जिस समय यह पानी रोका जाएगा वह गरमी की शुरुआत होगी। लगातार एक महीने तक पानी बंद रहने से दिल्ली में पानी को लेकर संकट खड़ा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे ना सिर्फ आम आदमी बल्कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री आवास समेत अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में जलापूर्ति प्रभावित होगी।

उन्होंने कहा कि हमने केंद्र और हरियाणा सरकार के साथ भांखड़ा नांगल प्रबंधन बोर्ड को चिट्ठी लिख कर मरम्मत कार्य स्थगित करने को कहा है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार दिल्ली को जल संकट से बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और जरूरत पड़ने पर हम सभी दरवाजे को खटखटाएंगे, ताकि दिल्ली वालों को न्याय मिल सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button