Top Newsआंध्र प्रदेशराज्यराष्ट्रीय न्यूज

कोरोना टीकाकरण के बाद हुई आशा कार्यकर्ता की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ हुआ मौत का कारण

आंध्र प्रदेश सरकार ने मृत आशा कार्यकर्ता के परिजनों को वित्तीय सहायता के रूप में 50 लाख रुपये देने की घोषणा की है

आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले में कोरोना वैक्सीन प्राप्त करने के पांच दिन बाद 24 जनवरी को एक 44 वर्षीय विजया लक्ष्मी नाम की आशा कार्यकर्ता की मौत हो गई।

Not Covid vaccine, infraction in brain caused ASHA worker's death in  Andhra's Guntur: Post-mortem report - Coronavirus Outbreak News

बता दें, जनवरी में कोरोना वैक्सीन प्राप्त करने के कुछ दिनों के बाद आंध्र प्रदेश के गुंटूर में आशा कार्यकर्ता की मौत का कारण मस्तिष्क में शिथिलता होने से बताई जा रही है। विजया लक्ष्मी के रूप में पहचानी जाने वाली,आशा कार्यकर्ता ने कोरोनो वायरस के खिलाफ टीका लगाने के पांच दिन बाद 24 जनवरी को अंतिम सांस ली।

ASHA worker dies in Andhra, family alleges adverse event due to COVID-19  vaccine | The News Minute

44 वर्षीय विजया लक्ष्मी की मौत का कारण जहां कोरोना वैक्सीन से होने का अंदाजा लगाया जा रहा था, वहीं   पोस्टमार्टम रिपोर्ट से अब साफ हो गया है की विजया लक्ष्मी की मौत मस्तिष्क में एक संक्रमण के कारण हुई है ना की कोरोना टीकाकरण से।

ASHA worker's death in Andhra Pradesh sparks protests | India News,The  Indian Express

बताते चलें, इससे पहले मंगलवार को आंध्र के डिप्टी सीएम अल्ला काली कृष्ण श्रीनिवास ने इस बात से इनकार किया कि आशा कार्यकर्ता की मृत्यु इम्यूनाइजेशन इवेंट फॉलो इम्यूनाइजेशन के कारण हुई थी। आंध्र प्रदेश सरकार ने मृत आशा कार्यकर्ता के परिजनों को वित्तीय सहायता के रूप में 50 लाख रुपये देने की घोषणा की है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button