Top Newsदिल्लीराष्ट्रीय न्यूज

बीजेपी ने लगाया छवि धूमिल करने का आरोप, कहा- तेंदुलकर और लता दी से माफी मांगे कांग्रेस

भाजपा विधायक ने ट्विटर पर पोस्ट किए एक पत्र में कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं की ओर से हमारे भारत रत्न जैसे सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर की छवि खराब करने की रणनीतिक कोशिश की गई है। ये दिग्गज हैं और अत्यंत ईमानदारी से इन्होंने देश की सेवा की है।

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन पर चल रही बहस के बीच भाजपा ने बुधवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर भारत रत्न लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर की छवि धूमिल करने का आरोप लगाया और उनसे माफी को कहा। भाजपा विधायक राम कदम ने ट्वीट करके कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी भारत रत्न लता मंगेशकर और सचिन तेंदुलकर की छवि धूमिल करना बंद करें और इनसे माफी मांगे। कांग्रेस दल के नेता और कार्यकर्ता भारत रत्नों का अपमान कर रहे हैं।

भाजपा विधायक ने ट्विटर पर पोस्ट किए एक पत्र में कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं की ओर से हमारे भारत रत्न जैसे सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर की छवि खराब करने की रणनीतिक कोशिश की गई है। ये दिग्गज हैं और अत्यंत ईमानदारी से इन्होंने देश की सेवा की है। इस देश के प्रति इनके समर्पण को कभी कम करके नहीं आंका जा सकता और न ही सवाल उठाया जा सकता है। दुर्भाग्य से, कई कांग्रेसी नेता इन दिग्गजों की छवि खराब करने कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा नेता ने आगे विपक्षी दलों पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान हासिल करने के लिए प्रोपेगेंडा फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि विदेशी सितारों के समर्थन के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान हासिल करने के लिए विपक्षी दलों का प्रोपेगेंडा उजागर हुआ है। देश की छवि जब ऐसे लोगों ने धूमिल करने की कोशिश की, जिन्हें हमारे देश  के बारे में कोई जानकारी नहीं है, तो यह हमारे दिग्गज लोग आगे आए और देश के प्रति एकजुटता दिखाई।

Image

बता दें कि अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना और जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग के किसानों के विरोध के समर्थन में ट्वीट किया था। इस पर सरकार की कड़ी प्रतिक्रिया की दिग्गज गायिका लता मंगेशकर और पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर समेत कई प्रमुख हस्तियों ने ट्वीट करके समर्थन किया था। इसे लेकर इनकी काफी आलोचना और विरोध हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button