Top Newsजुर्मपंजाब

श्मशान घाट में छिड़ी खूनी झड़प, गोली लगने से पूर्व सरपंच और वर्तमान सरपंच की मौत

मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल गुरदासपुर भिजवा दिया, जबकि घायल युवक को इलाज के लिए अमृतसर रेफर कर दिया गया है।

गुरदासपुर के विधानसभा हलका डेरा बाबा नानक के गांव मछराला में दो भाइयों में विवाद के चलते गोली लगने की मौत हो गई। मरने वालों में एक भाई वर्तमान सरपंच था, जबकि दूसरा भाई पूर्व सरपंच। शमशानघाट में चल रहे निर्माण कार्य को लेकर दोनो भाइयों का मामला इतना बढ़ गया की बात हाथापाई पर पहुंच गई। इस दौरान फायरिंग की स्थिति उत्पन्न हो गई। जिस दौरान चचेरे भाईयों की मौत हो गई, जबकि एक युवक गंभीर रूप से घायल बताया जा रहा है।

मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल गुरदासपुर भिजवा दिया, जबकि घायल युवक को इलाज के लिए अमृतसर रेफर कर दिया गया है।

दरअसल, पूरा मामला गांव मछराला का है। जहां मौजूदा सरपंच मनजीत सिंह द्वारा श्मशानघाट में निर्माण कार्य करवाया जा रहा था। गुरुवार सुबह उनके चचेरे भाई पूर्व सरंपच हरदेव सिंह के साथ श्मशान घाट में घंटे लगाने को लेकर विवाद हो गया। जिसके कुछ देर बाद मामूली तकरार ने खूनी रूप धारण कर लिया। दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई। गोली लगने के चलते मौजूदा सरपंच मनजीत सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पूर्व सरपंच हरदयाल सिंह और उनके बेचे साबी को भी गोली लगी।

बता दें कि घायलों को सिविल अस्पताल गुरदासपुर में भर्ती करवाया गया, जहां से हालत गंभीर होने के चलते दोनों को अमृतसर रेफर कर दिया गया। अमृतसर में पूर्व सरपंच हरदयाल सिंह की भी मौत हो गई।

हरदयाल सिंह के बेटे साबी की हालत भी गंभीर बनी हुई है। उधर, घटना की सूचना मिलने पर थाना डेरा बाबा नानक की पुलिस मौके पर पहुंची और मौजूदा सरपंच मनजीत सिंह के शव को सिविल अस्पताल गुरदासपुर में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पूर्व सरपंच हरदयाल सिंह के शव को भी गुरदासपुर में लाया गया है। फिलहाल पुलिस द्वारा मामले में मृतकों के परिवारों के बयान कलमबंद किए जा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button