Breaking NewspoliticsTop Newsराज्यराष्ट्रीय न्यूज

न्यायपालिका पर लोगों ने विश्वास खो दिया तो लोकतंत्र खतरे में हो जायेगा – CJI NV Ramna

न्यायपालिका से विश्वास खो दिया तो लोकतंत्र का आस्तित्व भी ख़त्म होने लगेगा...

DESK : शनिवार को मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने कहा की अगर लोगों ने न्यायपालिका से विश्वास खो दिया तो लोकतंत्र का आस्तित्व भी ख़त्म होने लगेगा। NV Ramna अगले सप्ताह न्यायमूर्ति के पद का कार्यभार पूर्ण कर रहे हैं। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा की यह सुनिश्चित करना बहुत जरुरी है कि लोग न्यायपालिका में विश्वास न खोएं।

भोजपुरी ,हिन्दी ,गुजराती ,मराठी , राजस्थानी ,बंगाली ,उड़िया ,तमिल, तेलगु ,की भाषाओं की पूरी फिल्म देखने के लिए इस लिंक को क्लीक करे:-http://www.aaryaadigital.com/ आर्या डिजिटल OTT पर https://play.google.com/store/apps/de... लिंक को डाउनलोड करे गूगल प्ले स्टोर से

आगे उन्होंने कहा कि अगर लोग न्यायपालिका में विश्वास खो देते हैं और न्यायपालिका ढह जाती है, तो लोकतंत्र का अस्तित्व भी दांव पर लग जाएगा। उन्होंने न्यायपालिका पर लोगों का विश्वास बनाये रखने के लिए कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित किया।

भोजपुरी ,हिन्दी ,गुजराती ,मराठी , राजस्थानी ,बंगाली ,उड़िया ,तमिल, तेलगु ,की भाषाओं की पूरी फिल्म देखने के लिए इस लिंक को क्लीक करे:-http://www.aaryaadigital.com/ आर्या डिजिटल OTT पर https://play.google.com/store/apps/de... लिंक को डाउनलोड करे गूगल प्ले स्टोर से

आगे उन्होंने बताया कि मुख्य न्यायाधीश के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई न्यायाधीशों के रिक्त पदों को भरने पर अपना ध्यान केंद्रित किया है। और उच्च न्यायालय के 250 न्यायाधीशों की भी नियुक्ति की गई है । उन्होंने कहा की हम चाहते हैं की समाज के सभी वर्गों, विशेषकर महिलाओं और पिछड़े वर्गों को न्यायपालिका में उचित प्रतिनिधित्व दिया जायेगा।

भोजपुरी ,हिन्दी ,गुजराती ,मराठी , राजस्थानी ,बंगाली ,उड़िया ,तमिल, तेलगु ,की भाषाओं की पूरी फिल्म देखने के लिए इस लिंक को क्लीक करे:-http://www.aaryaadigital.com/ आर्या डिजिटल OTT पर https://play.google.com/store/apps/de... लिंक को डाउनलोड करे गूगल प्ले स्टोर से

इस मौके पर न्यायमूर्ति रमना के अतिरिक्त आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी, आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश प्रशांत कुमार मिश्रा, उच्च न्यायालय और अन्य अदालतों के न्यायाधीश मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button