Top Newsराष्ट्रीय न्यूज

राष्ट्रपति ने संसद के दोनों सदनों को किया संबोधित, कहा-तिरंगे का अपमान दुर्भाग्यपूर्ण

कहा-व्यापक विचार विमर्श के बाद केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों को किया है पारित

नई दिल्ली।  राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शुक्रवार को बजट सत्र शुरु होने के साथ संसद के दोनों सदनों को संयुक्त रूप से संबोधित किया। इस दौरान राष्ट्रपति ने पिछले दिनों हुए तिरंगे और गणतंत्र दिवस के अपमान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। साथ ही लोगों से गंभीरता से कानून का पालन करने को कहा।

राष्ट्रपति ने कहा कि कोरोना महामारी के समय सरकार के सटीक फैसलों से लाखों लोगों की जान बची। राष्ट्रपति ने भारत द्वारा दुनिया के सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाने पर गर्व जताया। साथ ही कहा कि भारत ने मानवता के प्रति अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए अनेक देशों को कोरोना टीकों की लाखों खुराकें उपलब्ध करवाई।

राष्ट्रपति ने कहा कि पिछले 6 साल में सरकार ने कृषि को आधुनिक बनाने के लिए काफी प्रयास किए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों को लागत से डेढ़ गुना MSP देने का फैसला भी किया। राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने व्यापक विचार विमर्श के बाद तीन कृषि कानूनों को पारित किया है, जिसका लाभ किसानों को मिल रहा है। कृषि सुधारों को अनेक दलों ने समय-समय पर अपना समर्थन भी दिया है।

राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने व्यापक विचार विमर्श के बाद  कृषि कानूनों को पारित किया है जिसका किसानों को लाभ मिल रहा है। इसके अलावा राष्ट्रपति ने तिरंगे के अपमान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए सभी से कानून को गंभीरती से पालन करन को कहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button