Top Newsअसमनागालैंडपश्चिम बंगालबंगालराजस्थानराष्ट्रीय न्यूज

देश के इन पांच राज्यों में मिल रहा है सस्ता डीजल-पेट्रोल, जानें क्या है कारण?

देश में लगातार बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों के बीच इन पांच राज्यों ने राहत की खबर दी है। इन सभी पांचों राज्यों ने पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले वैल्यू एडेड टैक्स (VAT) को घटा दिया है। जिसके बाद इन राज्यों में बिक रहा पेट्रोल और डीजल बाकी राज्यों के मुकाबले सस्ता मिल रहा है और इससे जनता को काफी फायदा हो रहा है।

नई दिल्ली। देश में तेजी से बढ़ते पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर जनता काफी परेशान है। कई राज्यों में पेट्रोल का दाम 100 के पार पहुंच गया है। राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 90 रूपये पार कर चुका है जबकि डीजल 81 रूपये के ऊपर ही बिक रहा है। इस बीच लगातार बढ़ते दामों को देखते हुए देश के 5 राज्यों ने अपने यहां की जनता को राहत दने के लिए पेट्रोल और डीजल के दाम कर किए हैं।

देश में लगातार बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों के बीच इन पांच राज्यों ने राहत की खबर दी है। इन सभी पांचों राज्यों ने पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले वैल्यू एडेड टैक्स (VAT) को घटा दिया है। जिसके बाद इन राज्यों में बिक रहा पेट्रोल और डीजल बाकी राज्यों के मुकाबले सस्ता मिल रहा है और इससे जनता को काफी फायदा हो रहा है।

इन 5 राज्यों ने घटाए टैक्स

सस्ते दामों में पेट्रोल और डीजल देने वाले राज्य राजस्थान, असम, पश्चिम बंगाल, नागालैंड और मेघालय हैं। इन सभी राज्यों ने पेट्रोल और डीजल पर लगने वाला वैल्यू एडेड टैक्स (VAT) घटा दिए हैं। पश्चिम बंगाल ने रविवार को टैक्स घटाया है। पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर एक रुपये वैट कम किया है। इसके पेट्रोल और डीजल पर वैट (VAT)  सबसे पहले राजस्थान ने पिछले महीने जनवरी में घटाया था। वहीं, नागालैंड और मेघालय सरकार ने भी अपने यहां पेट्रोल और डीजल के दामों में कटौती की है।

गौरतलब है कि इससे पहले अपने बजट भाषण के दौरान केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेट्रोल पर 2.5 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 4 रुपये प्रति लीटर के कृषि सेस और डेवलपमेंट (एआईडीसी) लगाने की घोषणा की थी।  14 फरवरी को दिल्ली में 14.2 किलो के घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत में भी 50 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी, जिससे अब रसोई गैस की कीमत 769 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button