Top Newsराष्ट्रीय न्यूज

सावधान, अब पाकिस्तान और चीन की कायराना हरकरत नहीं होगी कामयाब, आसमान से ही नजर रखेंगी 6 ‘आंखे’

चीन, पाकिस्तान की सीमाओं पर निगरानी रखने की क्षमताओं में होगी वृद्धि

नई दिल्ली। स्वदेशी रक्षा उद्योग को बढ़ावा देने के लिए DRDO  छह नए एयरबोर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल विमान ‘आकाश में आंख’ बनाने जा रहा है। इन नए एयरबोर्न अर्ली वार्निंग सिस्टम से वायुसेना की ताकत बढ़ने के साथ ही चीन और पाकिस्तान की सीमाओं पर निगरानी रखने की क्षमताओं में बढ़ोत्तरी भी होगी।
सरकारी सूत्रों के अनुसार एईडब्ल्यूएंडसी ब्लॉक 2 विमान का निर्माण डीआरडीओ 10,500 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट के तहत कर रहा है। इसके लिए डीआरडीओ एयर इंडिया फ्लीट से छह विमानों को खरीदेगा और इन्हें राडार के साथ उड़ान भरने के लायक बनाएगा, जिससे सशस्त्र बल इसके जरिए 360 डिग्री तक निगरानी रख सकें।

बता दें कि इस प्रोजेक्ट की योजना इस तरह से बनाई गई है कि रक्षा और आत्मनिर्भर भारत में मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिल सके। प्रोजेक्ट का ब्लॉक-1 निर्धारित समय सीमा से काफी देरी से तैयार हुआ लेकिन, इससे मिले अनुभवों के आधार पर डीआरडीओ के सेंटर फार एयरबोर्न स्टडीज लैब की योजना कम समय में इसे पूरा करने की है।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button