Uncategorized

तेलंगाना राज्य में फिर खुले स्कूल, मुख्यमंत्री ने जारी किए ये दिशानिर्देश

देश के अन्य राज्यों की तरह तेलंगाना ने भी 9वीं कक्षा के छात्रों के लिए 1 फरवरी से स्कूल खोल देने का ऐलान किया है

कोरोना महामारी के बाद देश के कई राज्यों में या तो स्कूल खोल दिए गए है या फिर खोलने की तैयारियां की जा रही है। जब से कोरोना महामारी ने देश को जकड़ा था तभी से स्कूल व कॉलिज के बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरु हो गई थी। अब ऑनलाइन क्लासेज़ के बाद बच्चों के लिए स्कूल में जा कर पढ़ना थोड़ा मुश्किल का काम हो सकता है। वापस से स्कूल के रुटीन पर आने में थोड़ा समय लग सकता है। खैर देश के अन्य राज्यों की तरह तेलंगाना ने भी 9वीं कक्षा के छात्रों के लिए 1 फरवरी से स्कूल खोल देने का ऐलान किया है।

Schools to reopen for class 10, 12 in these states from January, see complete list | India News | Zee News

बता दें, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा कि कक्षा 9 वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए 1 फरवरी से स्कूल शुरू हो जाएंगे। मुख्यमंत्री राव ने सभी राजस्व विभाग से संबंधित मुद्दों को तुरंत हल करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। सीएम ने अधिकारियों को एक सप्ताह के भीतर धरनी पोर्टल पर सभी आवश्यक परिवर्तन, परिवर्धन करने के भी निर्देश दिए।

Telangana schools to reopen on February 1 for Class 9 and above | The News  Minute

उन्होंने निर्देश दिया कि 1 फरवरी से 9 वीं कक्षा से 12वीं तक की कक्षाओं को फिर से शुरू करने की व्यवस्था की जानी चाहिए, साथ ही कोरोना टीकाकरण की सभी व्यवस्थाएँ जल्द से जल्द पूरी कर ली जाए। मुख्यमंत्री ने वनों को पुनर्जीवित करने के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता देने के निर्देश भी दिए। Telangana CM Chandrasekhar Rao to hold mid-term Budget review today- The  New Indian Express

बताया जा रहा है की सीएम ने सोमवार को प्रगति भवन में मंत्रियों और कलेक्टरों के साथ बैठक की। बैठक में सरकारी सलाहकारों, विभागों के सचिवों और विभागों के प्रमुखों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री राव ने बेठक में कहा कि तेलंगाना राज्य के गठन से पहले, राजस्व अभिलेखों का रखरखाव अराजकता में था और इससे अक्सर झड़प और मुकदमेबाजी होती थी। उन्होंने संतोष व्यक्त किया है कि बिक्री और खरीद करने के लिए शुरू किए गए धरनी पोर्टल, पारदर्शी तरीके से रिकॉर्ड का रखरखाव पूरी तरह से सफल रहा। एक सप्ताह के भीतर धरनी पोर्टल में संशोधन किया जाना चाहिए।सीएम ने जिला कलेक्टरों को व्यक्तिगत रूप से पहल करने और राजस्व विभाग से संबंधित सभी मुद्दों को हल करने के लिए कहा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button