Top Newsउत्तराखंड

देहरादून पुलिस कंट्रोल रूम के व्हाट्सएप पर मैसेज, पुलिस वैन को बम से उड़ाने की धमकी

सुनगढ़ी पुलिस उक्त मोबाइल नंबर स्वामी को थाने ले आई। पूछताछ में पता चला कि वह मोबाइल पर व्हाट्सएप का इस्तेमाल ही नहीं करता है। पुलिस ने पूछताछ के बाद देहरादून पुलिस को जानकारी देकर मोबाइल स्वामी को छोड़ दिया। 

देहरादून। पुलिस कंट्रोल रूम के व्हाट्सएप पर एसएमएस करके पुलिस की वैन के बम से उड़ा देने की धमकी से हड़कंप मच गया। सर्विलांस से की गई जांच में मोबाइल नंबर पीलीभीत का होने के कारण देहरादून पुलिस ने पीलीभीत पुलिस से संपर्क कर मदद मांगी।

सुनगढ़ी पुलिस उक्त मोबाइल नंबर स्वामी को थाने ले आई। पूछताछ में पता चला कि वह मोबाइल पर व्हाट्सएप का इस्तेमाल ही नहीं करता है। पुलिस ने पूछताछ के बाद देहरादून पुलिस को जानकारी देकर मोबाइल स्वामी को छोड़ दिया।

उत्तराखंड के देहरादून पुलिस कंट्रोल रूम के व्हाट्सएप नंबर पर एक अन्य मोबाइल नंबर से व्हाट्सएप मैसेज आया। मैसेज में एक फरियाद को न सुनने की बात कहते हुए पुलिस की मोबाइल वैन को बम से उड़ा देने की धमकी दी। देहरादून की पुलिस ने उक्त मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाया तो उक्त मोबाइल नंबर जनपद पीलीभीत के थाना सुनगढ़ी क्षेत्र के गांव गुटइया निवासी राजू का निकला। जिसकी उम्र करीब 45 वर्ष बताई गई है।

उक्त कथित मोबाइल नंबर राजू का निकलने पर देहरादून पुलिस ने पीलीभीत पुलिस से संपर्क साधा और आरोपी का जुर्म बताते हुए उसे हिरासत में लेने का आग्रह किया था। रात में ही सुनगढ़ी पुलिस की टीम ने ग्राम गुटइया के राजू को उसके घर से हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने उससे विस्तृत पूछताछ की तो पता चला कि राजू एक मजदूर किस्म का व्यक्ति है। वह स्वयं की-पैड का मोबाइल चलाता है। उसके पूरे घर में किसी के पास एंडरायड फोन नहीं है। मैसेज किसने और क्यों भेजा यह उसकी जानकारी में अभी तक नहीं है।

वह खुद सुनकर हैरान है। पूछताछ में स्थिति स्पष्ट होने के बाद पीलीभीत पुलिस ने देहादून पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। इस पर देहरादून पुलिस ने अग्रिम कार्यवाही तक कथित आरोपी राजू को छोड़ देने को कहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button